Good Qualities of Singers in Indian classical music  in hindi

Good Qualities of Singers in Indian classical music  in hindi is described in this post of Saraswati sangeet sadhana .

Good Qualities of Singers / गायकों के गुण

(1) मधुर कण्ठ –

गमक ,कण और मींड़ लेने योग्य मधुर और सुरीला कण्ठ होना ,कम से कम अभ्यास में गाने योग्य होना बहुत बड़ा गुण है ।

(2) शुद्ध उच्चारण –

आवाज लगाने तथा गीत के शब्दों का उच्चारण शुद्ध और स्पष्ट होना चाहिए ।

(3) स्वर और श्रुति –ज्ञान –

राग में प्रयोग किये जाने वाले सभी स्वरों तथा श्रुतियों को समझने तथा गाने की क्षमता हो ।

(4) लय और ताल –ज्ञान –

गायक लयदार हो और उसे सभी प्रचलित तालों का अच्छा ज्ञान हो ।

(5) राग –ज्ञान –

अधिक से  अधिक रागों का सूक्ष्म ज्ञान हो । केवल इतना ही नहीं बल्कि समप्रकति रागों से बचना ,अल्पत्व –बहुत्व तथा तिरोभाव –आविर्भाव   दिखाने की क्षमता हो ।

 

(6) समुचित अभ्यास –

कम से कम इतना अभ्यास तो होना ही चाहिए कि वह अपने मन के अनुसार तान –आलाप इत्यादि गा सके ।

(7) स्वर ,लय और भाव का सुंदर समन्वय –

गायक में यह गुण होना चाहिए कि वह अपने गायन में स्वर ,लय और भाव तीनों को उचित स्थान दे ।

(8) रचनात्मक शक्ति –

गायक में यह गुण होना चाहिए कि वह उसी समय सुंदर तान –आलाप आदि की रचना कर सके और उनकी पुनराव्रत्ति न हो ।

(9) श्रम –रहित और एकाग्रचित होकर गाना –

गाते समय श्रोताओ को यह अनुभव न हो कि गायक को बड़ा परिश्रम करना पड़ रहा है और उसका चित एक स्थान पर स्थिर नहीं होता है ।

(10) जन –मन –रंजन-

गायक में यह क्षमता होनी चाहिए कि श्रोता उसके गायन पर मुग्ध हों । उसके गाने से जनता का मनोरंजन होना चाहिए । केवल कलात्मक चमत्कार पर्याप्त नहीं है ।

(11) कण्ठ –सीमा –

गायक की कण्ठ –सीमा जितनी अधिक हों ,उतना ही अच्छा है । तीनों सप्तको में शुद्ध और साफ आवाज लगे तथा आवश्यकतानुसार आवाज छोटी –बड़ी की जा सके ।

 

(12) आत्म –विश्वास –  

रंगमंच पर निर्भय होकर प्रत्येक परिस्थितिको देखते और संभालते हुए गाना । श्रोताओ को ऐसा मालूम पड़े कि जैसे उसे स्वर व लय पर पूरा अधिकार है ।

(13) गायकी –

उसकी गायकी अधिक से अधिक पूर्ण तथा उसके कण्ठ के अनुसार होनी चाहिए ।

(14) समय ,अवसर तथा श्रोताओ के अनुसार –

समय ,अवसर तथा श्रोता के अनुसार राग ,गीत के शब्द ,गान की अवधि ,गाने की शैली आदि चुनने की क्षमता गायक में होनी चाहिए ।

Click here for Defination of all terms in Indian classical music..

Click here For english information of this post ..   

Some posts you may like this…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top
Open chat