Bherav raag bandish taan allaap

Bhairav raag-Jago Jago Hua Sawera-Bandish-Allap-Taan

Bhairav raag-Jago Jago Hua Sawera Bandish Allap Taan in Indian classical music  in hindi is described in this post of Saraswati sangeet sadhana .

Bhairav  Raag complete description with allap taan

आरोह :-   सा  रे  ग  म प  नि  सां I

अवरोह:-   सां  नि    प म  ग  रे  सा  I

पकड   :-   ग म प , ग म रे रे सा

ठाट :- भेरव ठाट

जाति :- सम्पूर्ण – सम्पूर्ण  (7,7)

वादीसंवादी स्वर :-    , रे

गायन समय :- प्रातःकाल 4 से 7 बजे तक है

 

भैरव राग की  बन्दिश

जागो जागो हुआ सवेरा

सारे जगत का मिटा अंधेरा

अंतरा –

सूरज की झिलमिल किरणों से

वसुंधरा पर किया बसेरा

Notation

जा – गो  – / जा  – गो – /  हु  आ  – स  / वे – रा  – 

ग म – / प – प / म ग पम ग  / रे – सा –

सा – रे ज  / ग त का – / मि टा  – अं / धे  – रा – 

नि सा ग म / प नि सां / सां – नि / प म ग

 

अंतरा –

सू   – र  ज /  की –  झि ल / मि ल कि र / णों –   से – 

प – प प / – नि नि / सां सां सां सां / नि –  सां –

व सुं  – ध / रा  –  प र  / कि या – ब  / से  –  रा – 

 ध नि –सां / रें – सां सां / सां – नि  / प म ग

 

Bhairav raag 16 Matras Allaap

 

जागो जागो हुआ सवेरा

सा – – – / रे रे सा – / . .नि सा रे / सा – – –

जागो जागो हुआ सवेरा

ग म / प – – – / ग म रे – / रे – सा –

जागो जागो हुआ सवेरा

सा रे ग म / प प – / सां नि प / म ग रे सा

जागो जागो हुआ सवेरा

सा रे ग म / प नि सां / सां – – – / रें रें सां –

सूरज की झिलमिल किरणों से

सां – – – / रें रें सां – / नि – सां / रें रें  सां – 

सूरज की झिलमिल किरणों से

वसुंधरा पर किया बसेरा

Bhairav raag 16  Matras Taan

जागो जागो हुआ सवेरा

सारे गम प निसां / सांनि प मग रेसा

सारे गम प निसां / निनि प मग रेसा

जागो जागो हुआ सवेरा

सारे गग रेग मम / गम पप मप धध /

निनि नि सांसां सांनि प मग रेसा

जागो जागो हुआ सवेरा

सारे गम रेग मप / गम प मप नि /

निसां सांरे सां- / सांनि प मग रेसा

जागो जागो हुआ सवेरा

सारे सारेरेरे / गम गम पम पम

निप नि प / सांनि प मग रेसा

जागो जागो हुआ सवेरा

सारे गसा रेग सारे गम पग मप गम

निप नि प सांनि प मग रेसा

सूरज की झिलमिल किरणों से

सांनि धध नि पप / प मम पम गग

मग रेरेरे सासा / सारे गम प निसां

सूरज की झिलमिल किरणों से

वसुंधरा पर किया बसेरा

Raag parichay of all raags in Indian Classical music..

Bherav raag-Jago Jago Hua Sawera bandish , allap , taan is described in this post of Saraswati Sangeet Sadhana..

Click here For english information of this post ..   

Some posts you may like this…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top
Open chat